हिंदी, Health, Women's, youzify_media

प्राकृतिक सौन्दर्य के लिए घरेलू उपाय

व्यक्तितिव में आकर्षण होना वास्तविक सौन्दर्य है आकर्षण के आभाव में रूपवान होना भी व्यर्थ हो जाता है |

आमतौर से त्वचा की सुन्दरता का एकमात्र मापदंड है गोरी त्वचा , लेकिन ऐसी बात नही है , गोरा रंग न होने के बाद भी आकर्षक दिखा जा सकता है यदि व्यक्ति अपने सौन्दर्य के प्रति पूर्ण सजग रहें | जिसे प्रकृति  प्रदत्त सुन्दरता प्राप्त है वह भी यदि अपने सौन्दर्य की रक्षा या देख भाल न करे तो आकर्षक नही रह सकता | वास्तविक सौन्दर्य हासिल करने के लिए प्रति दिन की दिनचर्या में थोडा समय अपने आप के लिए देना जरुरी है |

सौंदर्य बनाये रखने के लिए आम महिलाओं में यह धारणा देखी जा सकती है कि वे नित्य नए सौन्दर्य प्रसाधनो की तलाश करती रहती हैं ,जबकि मंहगे सौन्दर्य प्रशाधन के प्रयोग से त्वचा और चेहरे पर प्राकृतिक निखार नहीं आ पाता है | मद्ध्यम वर्गीय परिवारों की महिलाओं की समस्या यह है कि वे एक सीमित स्थिति तक ही यह खरीद – फरोक्त कर सकती है |

सौन्दर्य प्रसाधनों  की दिन ब दिन बढती कीमतों ने आम व ख़ास नारियों को यह सोचने पर विवश कर दिया है कि वे कृत्रिम प्रसाधनो के स्थान पर प्राकृतिक सस्ते व घरेलू प्रसाधनो का प्रयोग कर अपने को सुन्दर बनाये रखें |

प्रस्तुत लेख में सब्जियों से बनाए जाने बाले सौन्दर्य प्रसाधनो की चर्चा की गयी है , सभी वर्ग की  महिलाएं इन्हें तैयार कर सकती हैं |

आलू – आलू को महीन पीस कर मलमल के कपडे में बाँध कर कुछ दिनों तक लगातार आँख के उपर रखने से आँखों के आस- पास के झाइयाँ दूर हो जाती है और आँखों को शीतलता मिलती है |

टमाटर – टमाटर के लोशन से चहरे को मुलायम व चिकना बनाया जा सकता है | इसका लोशन बनाने की विधि सामान्य है – एक चम्मच टमाटर का रस तथा कुछ बूंदें नीबू की, को अच्छी तरह मिला ले , फिर चेहरे पर हल्के-हल्के मलिए | थोड़ी देर बाद ठन्डे ताजे पानी से मुह धो लीजिये , इस लोशन से त्वचा के रोम छिद्रों की सफाई और कील मुहांसों से बचाव होता है |

पुदीना – पुदीने की पत्तियों को पीस कर रस निकल लें | रात को चेहरे पर लगायें , सूखने पर तुरन्त न  धोकर सुबह ताजे पानी से धो ले | पुदीने के लोशन के नियमित प्रयोग से मुहांसों के दाग दूर हो जाते हैं |

गाजर – बालों का असमय टूटना और झड़ना गाजर के रस को बालों में लगा कर रोका जा सकता है | गाजर का रस पीना भी चाहिए |

मूली – मूली का लोशन तैयार करने के लिए उसका रस निकाल कर बराबर  की मात्रा में मक्खन मिलाएं | दोनों को अच्छी तरह मिला कर मुह पर लगायें | थोड़ी देर बाद गुनगुने (हल्के गर्म पानी ) से धो ले |

नीबू – नीबू का रस प्रतिदिन पानी के साथ पीने से शरीर थुलथुल नही हो पाता और दिनभर ताजगी और स्फूर्ति बनी रहती है ,चेहरे की झुर्रियों को दूर करने तथा सर्दी में त्वचा को फटने से रोकने के लिए नीबू के रस में ग्लिसरीन व गुलाबजल मिला कर लगाने से फायदा मिलता है | नीबू का रस निकालने के बाद छिलके  को होंठों पर अहिस्ते आहिस्ते रगड़ने से उनका कालापन भी दूर होता है | नीबू एक श्रेष्ठ प्राकृतिक  सौन्दर्य प्रसाधन है |

खीरा –  खीरे के रस में थोडा सा दूध मिला कर चेहरे पर लगाने से रंग साफ़ हो जाता है | खीरे की क्रीम बनाने के लिए एक चम्मच खीरे के रस में नीबू के रस की कुछ बुँदे व हल्दी मिलाते हैं | मिश्रण को अच्छे से मिला कर चेहरे पर लगाने के आधे घंटे के बाद गुनगुने पानी से धो लें | चहरे पर चमक आ जाएगी | खीरे के रस में नीबू का रस व गुलाबजल मिला कर लगाने से तैलीय त्वचा में फायेदा पहुँचता है | खीरे का टुकड़ा ऐसे ही चहरे पर रगड़ने से नन्हें छिद्र और फोड़े – फुंसी के दाग – धब्बे दूर हो जाते हैं |

सेम – चेहरे की झाइयाँ व झुर्रियां दूर करने के लिए सेम की ताज़ी पत्तियों को पीस कर उसको चेहरे पर लगायें | कुछ दिन तक के प्रयोग से चेहरा निखरने लगता है |

लौकी – लौकी के छिलके को चेहरे पर हल्के हाथों से मसल कर लगाने से चमक आ जाती हे |

धनिया – हरा धनिया महीन पीस कर त्वचा के तिलों पर रखने से तिल कम होने लगते हैं |

पालक –  पालक को उबाल कर उसके रस को त्वचा पर मलें | ये सभी प्रकार से त्वचा के लिए उपयोगी होता है तथा प्राकृतिक चमक और सौन्दर्य प्रदान करता है |

कृत्रिम सौन्दर्य प्रसाधनो की तुलना में ये सौन्दर्य स्रोत (सब्जियां ) कम मूल्य तथा सर्व सुलभ हैं | सभी श्रेणी की महिलाये एवं पुरुष इनका प्रयोग कर सकते  हैं |

Leave a Reply

Your email address will not be published.