Posted on

ऐसे बढ़ाएं अपनी रोगप्रतिरोधक क्षमता

आप यदि बार बार मौसमी बीमारियों जैसे सर्दी ,खांसी ,जुकाम  आदि की चपेट में आते है  तो इसका मतलब यह है कि आपकी बॉडी  बैक्टीरिया से लड़ने में सक्षम नहीं है | इसे हम यूँ भी कह सकते है की  आपका इम्यून सिस्टम स्ट्रोंग नहीं है |

ऐसे में जब भी मौसम में थोडा बहुत भी परिवर्तन होता है  तो आप अस्पताल के चक्कर काटते है  और तरह तरह की दवाईयां खाते है | ऐसा करने से आपको कुछ समय के लिए तो रहत तो मिल जाएगी  लेकिन दीर्घकाल में कई तरह की बीमारियों की गिरफ्त  में आप आ जायेंगे | इसलिए यह बहुत जरुरी है की आप  समय रहते अपनी बॉडी पर ध्यान दें  |रोग प्रतिरोधकता को बढ़ने के लिए हेल्दी हैबिट्स को फॉलो करें |

प्रोबिओटिक फ़ूड लें

बहुत तरह के फूड्स  ऐसे होते है जो रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में सहायक है | इसमें सबसे अच्छा दही है ,जिसमे प्रोबिओटिक बैक्टीरिया पाए जाते है | ये बैक्टीरिया पाचन तंत्र के लिए तो अच्छे होते ही है साथ ही कई तरह के रोगों से शरीर की रक्षा करते है |

प्रोटीन डाइट लें

 यदि आप आये  दिन बीमार पड़ते रहते है तो यह बहुत जरुरी है की डाइट में प्रोटीन की मात्रा बधाई जाये | प्रोटीन को शरीर के लिए सबसे जरुरी माइक्रोन्यूट्रीआइन्ट माना जाता है | इससे मांसपेशियों और शरीर की रोग प्रतिरोध क्षमता में बढ़ोतरी होती है |प्रोटीन के लिए सोयाबीन सबसे अच्छा स्रोत है | इसके आलावा सोया मिल्क ,टोफू ,पनीर जैसे खाद्य पदार्थों का भी सेवन करें |

सब्जियों का सेवन  करें |

 डाइट में सब्जियों को शामिल करने से अच्छी मात्र में फाइबर और प्रोटीन मिलता है |इसके आलावा मशरूम सबसे अच्छा  फ़ूड  है  जो श्वेत रक्त कणिकाओं की संख्या में वृद्धि कर रोग प्रतिरोधक तंत्र को मजबूत बनता है | इसलिए मौसमी सब्जियों का सेवन  करना फायेदेमंद है |

तनाव मुक्त रहे

 जब हम तनाव में रहते है  तो कार्टिसोल और एड्रेनैलिन हारमोंस का स्राव होता है | हालाँकि बहुत थोड़ी देर के लिए  इनका स्राव मसल्स की  क्रियाशीलता को बढाने के लिए अच्छा माना जाता है ,लेकिन अक्सर  तनाव में रहने  से शरीर की रोग प्रतिरोधक  क्षमता पर बुरा प्रभाव पड़ता है | अवसाद से ग्रसित  लोगों में इम्यून सिस्टम स्ट्रोंग नहीं रहता ,जिससे होर्मोनेस का असंतुलन बढ़ रहा है

 रोजाना वाक  करें

 यदि आप नियमित एक्सरसाइज  नहीं कर पाते है तो रोजाना थोड़ी डेटवॉक करने की आदत से भी कई तरह की बीमारियों  से बचा जा सकता है | एक्टिव लाइफ स्टाइल से एंटी|बाडीस में वृद्धि होती है  और शरीर में श्वेत रक्त कणिकाओं  की गतिशीलता को भी बढाया जा सकता है | इससे इम्यून सिस्टम स्ट्रौंग होता है |

विटामिन डी लें

इम्यून सिस्टम को स्ट्रोंग  करने के लिए विटामिन डी भी बहुत जरुरी है | इसके लिए सबसे अच्छा सोर्स है सूर्य की रोशनी | इसके सेवन से  शरीर में हानिकारक पदार्थ बहार निकल जाते है | इससे शरीर को गर्मी मिलते है और साइनस ठीक हो जाता है  | विटामिन डी की कमी से हाथ पैसों में सूजन की समस्या भी बढ़ जाती है |